Home Big grid कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के बीच यूपी में लाल फ़ीताशाही...

कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के बीच यूपी में लाल फ़ीताशाही के कारण डिब्बा बंद पड़े हैं PM Care के वेंटिलेटर

313
0
SHARE

KGMU लखनऊ में PM care फंड से लगाए जाने वाले सैकड़ों वेंटिलेटर पिछले 15 दिनों से धूल फांक रहे हैं।

विशेष संवाददाता

करोना की दूसरी लहर ने जिस तरीक़े का क़हर बरपाया उससे देश और ख़ासतौर पर उत्तर प्रदेश अभी भी उबरने की कोशिश कर रहा है.. कोरोना की दूसरी लहर में जिस तरह लोगों को ऑक्सीजन और वेंटिलेटर के लिए भटकना पड़ा उसकी भयावह तस्वीरें देश-दुनिया ने देखी.. इससे सबक़ लेकर केंद्र सरकार और राज्य सरकार ने आनन फ़ानन में ऑक्सिजन और वेंटिलेटर के लिए तमाम बड़े फ़ैसले लिए.. ऑक्सीजन सप्लाई सुचारु करने के लिए इंडस्ट्रियल ऑक्सीजन के प्रोडक्शन को बढ़ाया गया वही सेना और रेलवे के माध्यम से ऑक्सीजन की सप्लाई सभी राज्यों तक पहुँचाई गई.. सरकारी अस्पतालों में नए ऑक्सीजन प्लांट लगाए गए.. वहीं वेंटिलेटर उपलब्धता बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री ने PM केयर फंड से केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के माध्यम से राज्यों को जल्द से जल्द वेंटिलेटर पहुँचाने का आदेश दिया.. सरकारी व निजी कम्पनियों ने रिकॉर्ड समय में इन वेंटिलेटर को बनाया भी और राज्यों तक पहुँचाना भी..

उत्तर प्रदेश में भी PM केयर फंड से सरकारी संस्था AMTZ की तरफ़ से कई वेंटिलेटर यूपी सरकार को मुहैया कराए गए हैं..पर प्रदेश में लाल फ़ीताशाही के कारण यह वेंटिलेटर अब भी डिब्बा बंद पड़े हैं.. स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की शिथिलता के कारण ये वेंटिलेटर अब तक अस्पतालों में नहीं लग पाए हैं.. ख़ासतौर पर KGMU लखनऊ में PM care फंड से लगाए जाने वाले सैकड़ों वेंटिलेटर पिछले 15 दिनों से धूल फांक रहे हैं.. KGMU अस्पताल प्रशासन के नकारात्मक रवैये के कारण इन वेंटीलेटरस को अब तक चालू नही किया जा सका है.. जबकि हक़ीक़त यह है कि अब भी वेंटिलेटर के आभाव में हर दिन कई मरीज़ों की सांसे उखड़ रही है.. प्रदेश में कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के बीच प्रदेश स्वास्थ्य विभाग और KGMU अस्पताल प्रशासन दोनों लापरवाही की ज़िम्मेदारी एक दूसरे पर डालकर बैठे हैं..इस बीच जानकारी है कि लापरवाही की यह ख़बर प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ तक पहुँची है वहीं दूसरी तरफ़ प्रधानमंत्री कार्यालय भी PM care फंड से भेजे गए वेंटिलेटर नहीं लगाए जाने को लेकर नाराज़ बताए जा रहा है।