Home Big grid झारखण्ड के मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने रिम्स के ट्रॉमा सेंटर जाकर आइसोलेशन...

झारखण्ड के मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने रिम्स के ट्रॉमा सेंटर जाकर आइसोलेशन वार्ड का निरीक्षण किया

711
0
SHARE

मुख्यमंत्री ने रिम्स के निदेशक से आइसोलेशन वार्ड में की गई तैयारियों की ली पूरी जानकारी, दिए अहम निर्देश

  • कोरोना वायरस से बचाव को लेकर सरकार ने किए हैं सभी मुकम्मल इंतजाम
  • आइसोलेशन वार्ड में बेडों की संख्या और मरीजों के जांच की क्षमता बढ़ाई जाएगी

 सर्वेश कुमार मिश्र

रांची :दुनिया में कोरोना वायरस महामारी का रूप ले चुकी है।आज भारत में कोरोना संक्रमण के लगातार मामले आ रहे हैं। जहां तक झारखंड की बात करें यहां अभी तक कोरोना पॉजिटिव का एक भी मामला सामने नहीं आया है, लेकिन अगर किसी तरह की मुसीबत आती है तो उससे बचाव को लेकर सरकार के स्तर पर मुकम्मल इंतजाम किए गए हैं। मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने आज रिम्स के ट्रॉमा सेंटर में कोरोना वायरस के मरीजों के इलाज के लिए बनाए गए आइसोलेशन वार्ड का निरीक्षण करने के दरम्यान ये बातें कही। मुख्यमंत्री ने रिम्स के निदेशक डॉ डीके सिंह से कोरोना पर गई तैयारियों की पूरी जानकारी ली और कई निर्देश भी दिए।मुख्यमंत्री ने निदेशक से कहा कि रिम्स में अगर कोरोना वायरस का कोई भी मरीज आता है तो उसके टेस्ट और इलाज में किसी तरह की कोई कमी नहीं आनी चाहिए।रिम्स के  आइसोलेशन वार्ड में अभी 100 बेड और 14 वेंटीलेटर की व्यवस्था हैं।मुख्यमंत्री ने कहा कि बेडों की एक हजार बेड कोरोना मरीजों के लिए आइसोलेशन वार्ड में चौबीस घंटे तैयार रखा जा सके।रिम्स में फिलहाल हर दिन 180 मरीजों के जांच की क्षमता है।

हेल्प डेस्क और स्क्रीनिंग रुम की सुविधा

रिम्स के ट्रॉमा सेंटर में बनाए गए आइसोलेशन वार्ड में हेल्प डेस्क भी बनाया गया है। इसके अलावा कोरोना वायरस के आनेवाले संदिग्ध मरीजों की स्क्रीनिंग के लिए अलग से स्क्रीनिंग रुम है।केंद्र और राज्य सरकार के गाइडलाइन के अनुरुप आइसोलेशन वार्ड को तैयार किया गया है और इलाज के लिए इंतजाम किए गए हैं।निरीक्षण के दौरान अपर मुख्य सचिव सुखदेव सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राजीव अरुण एक्का, स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव नीतिन मदन कुलकर्णी और मुख्यमंत्री के विशेष कार्य पदाधिकारी गोपाल जी तिवारी मौजूद रहे।