Home Big grid कोरोना वायरस: रिलायंस ने फ्री फ्यूल, गरीबों को खाना,100 बेड का अस्पताल...

कोरोना वायरस: रिलायंस ने फ्री फ्यूल, गरीबों को खाना,100 बेड का अस्पताल सहित किए कई बड़े ऐलान

633
0
SHARE

कॉन्ट्रैक्ट वर्कर्स को काम न होने पर भी करेगा भुगतान

रिलायंस की ओर से  मुख्यमंत्री राहत कोष में दिए जाएंगे 5 करोड़ रुपए  

लाइव ख़बर डेस्क

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने सोमवार को भारत का पहला डेडिकेटेड कोविड-19 अस्पताल मुंबई में बनाने का ऐलान किया है। यह अस्पताल पूरी तरह से रिलायंस फंडेड होगा। कंपनी ने ऐलान किया है कि कोरोना वायरस की वजह से कंपनी में काम न होने के बावजूद कॉन्ट्रैक्ट और टेंपरेरी वर्कर्स को भुगतान करेगा। इसके अलावा रिलायंस ने संकट में फेस मास्क का प्रोडक्शन बढ़ाने और जरूरतमंद को मुफ्त में खाना और फ्यूल देगा।

रिलायंस फाउंडेशन सिर्फ दो हफ्तों में बीएमसी के सहयोग से, सेवन हिल्स हॉस्पिटल, मुंबई में एक 100 बिस्तर का सेंटर स्थापित किया है। यह सेंटर मुंबई के उन मरीजों के लिए है जो कि कोविड-19 के लिए हुए टेस्ट में पॉजिटिव आए हैं। इसमें एक निगेटिव प्रेशर रूम शामिल है जो संक्रमण को नियंत्रित करने में मदद करता है। रिलायंस ने लोधीवली, महाराष्ट्र में पूरी तरह से सुसज्जित आइसोलेशन सुविधा का निर्माण किया है। रिलायंस की तरफ से महाराष्ट्र मुख्यमंत्री राहत कोष में 5 करोड़ रुपए का योगदान किया गया है। जियो ने इसके लिए कोरोना हारेगा इंडिया जीतेगा मुहिम की शुरुआत की है। जिससे ऐसे मुश्किल समय में लोग रिमोट वर्किंग, रिमोट लर्निंग के माध्यम से एक दूसरे से जुड़े रहेंगे और सुरक्षित रह सकेंगे।जियो ने कहा कि इस मुश्किल की घड़ी में हम सब साथ हैं।जियो ने स्टूडेंट्स, एजुकेशनल एंड हेल्थकेयर इंस्टीट्यूशन द्वारा अपने प्रोफेशनल जरूरतों को पूरा किए जाने के लिए माइक्रासॉफ्ट टीम के साथ कोलैबोरेशन किया है।
भारत के विभिन्न शहरों में मुफ्त भोजन:रिलायंस फाउंडेशन ने आवश्यक आजीविका राहत की पेशकश करने के लिए गैर सरकारी संगठनों के साथ सहभागिता में विभिन्न शहरों में लोगों को मुफ्त भोजन प्रदान करेगा।

लोधीवली में आइसोलेशन की सुविधा :लोधीवली, महाराष्ट्र में पूरी तरह से सुसज्जित आइसोलेशन सुविधा का निर्माण किया है और इसे जिला अधिकारियों को सौंप दिया है। रिलायंस लाइफ साइंसेज प्रभावी टेस्टिंग के लिए अतिरिक्त टेस्ट किट्स और उपभोग्य सामग्रियों का आयात कर रही है।

कॉन्ट्रैक्ट वर्कर और अस्थायी कर्मचारियों को भुगतान जारी रखेगा:रिलायंस कॉन्ट्रैक्ट वर्कर और अस्थायी कर्मचारियों को भुगतान जारी रखेगा, भले ही इस संकट के कारण काम रुक गया हो। इसके तहत 30,000 रुपए प्रति माह से कम आय वालों के लिए, वेतन को महीने में दो बार दिया जाएगा ताकि उनको नकदी की समस्या पेश ना आए और उन पर किसी भी तरह का भारी वित्तीय बोझ ना आए। कंपनी ने अपने ज्यादातर कर्मचारियों को अपने वर्क-फ्रॉम-होम प्लेटफॉर्म पर काम करने की सुविधा प्रदान की है, जो कि लगभग 40 करोड़ ग्राहकों के लिए जियो नेटवर्क को बनाए रखने और दैनिक उपभोग के अन्य आवश्यक वस्तुओं, ईंधन, किराने और अन्य आवश्यक वस्तुओं की निर्बाध आपूर्ति प्रदान करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं।